Breaking News
Home / Video / रंगभरी एकादशी के दिन द्वारिकाधीश ने कुंज में खेली होली, रंग-गुलाल उड़ाकर भक्तों ने मनाया उत्सव

रंगभरी एकादशी के दिन द्वारिकाधीश ने कुंज में खेली होली, रंग-गुलाल उड़ाकर भक्तों ने मनाया उत्सव

मथुरा।(द्वारकेश बर्मन) मथुरा के द्वारिकाधीश मंदिर में टेशू के फूलों से बने रंगों की बौछार पिचकारियों से भक्‍तों पर की गई।देश विदेश से भक्‍त भक्ति के रंगों से सराबोर होने के लिए पहुंच रहे हैं।… कुंज में विराजमान होकर राजाधिराज ने रविवार को होली खेली। हजारों भक्तों ने होली का आनंद लिया। रंग और गुलाल ऐसे उड़े कि हर कोई सराबोर हो गया। पुष्टिमार्गीय संप्रदाय के मंदिर ठाकुर द्वारकाधीश जी महाराज में चल रहे होली के कार्यक्रमों में कुंज एकादशी के दिन ठाकुर जी ने कुंज में विराजमान होकर होली खेली। मंदिर के विधि एवं मीडिया प्रभारी राकेश तिवारी एडवोकेट ने बताया आज प्रातः काल से ही मंदिर प्रांगण में देश विदेश से आए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा और अपने आराध्य की एक झलक पाने को श्रद्धालु इंतजार करते रहे। वहीं ठाकुर जी के पट जब खुले तब भक्तों ने उन्हें कुंज में विराजमान देख कर रसिया कुंजन होरी रे श्याम पिया रसिया गाया। यूं तो फाग का माह रंगों की तरंग लिये आता है लेकिन कान्‍हा की नगरी में समूचा वातावरण भक्ति से परिपूर्ण रंगों से सराबोर रहता है।

अबीर गुलाल और टेशू के फूलों से बने रंगों की सुगंध हर ओर बिखरी हुई। कुंज गलियों में राधे राधे की गूंज करती हुईं टोलियां निकलती हुईं। हजारों भक्‍त और अटूट आस्‍था, बस हर मन का एक ही रास्‍ता, जो पहुंचता है कृष्‍ण के द्वारे। होला ष्‍टक के बाद और रंग भरनी एकादशी से एक दिन पूर्व मथुरा के द्वारिकाधीश मंदिर में टेशू के फूलों से बने रंगों की बौछार पिचकारियों से भक्‍तों पर की गई। होली के रसिया और राधे रानी के जयकारों के मध्‍य भक्‍तों ने अपने आराध्‍य के साथ होली का भरपूर आनंद लिया। मंदिर के सभी कार्यक्रमों का निर्धारण मंदिर के गोस्वामी बृजेश कुमार महाराज करते हैं और निर्देशन काकरोली युवराज डॉ वागीश कुमार महाराज के द्वारा किया जाता है। उनके द्वारा किए गए निर्धारण के तहत 17, 19 और 21 मार्च को मंदिर में भव्य मनोरथ ओं का आयोजन किया जा रहा है।किन्तु यहां आए भक्त 18 और 20 को भी ठाकुर द्वारकाधीश के साथ होली खेल सकेंगे। द्वारकेश रसिया मंडल के चुन्नीलाल, छोटू पंडा, अमित पाठक, प्रमोद चतुर्वेदी ने रसिया ओं का गायन कराया। वहीं मंदिर के अधिकारी ब्रजनाथ चतुर्वेदी, कमला शंकर , ओम प्रकाश गुप्ता, राधारमण अरोरा, राजीव चतुर्वेदी, बृजेश चतुर्वेदी, जीतू, कन्हैया ने व्यवस्थाओं को संभाला।

About Mohan Bhowmik

Check Also

प्रधानमंत्री बिहार के अररिया मे गरजे

अररिया, 20 अप्रैल (आरएनआई)- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज बिहार के अररिया में एक बार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *